Eknath Shinde Shiv Sainik cabinet minister biography in hindi 2022

Eknath Shinde Shiv Sainik cabinet minister biography in hindi 2022

आपने अभी के समय में Mr. Eknath Shinde के नाम के काफी चर्चे होते सुने तो जरूर होंगे। लेकिन क्या आपको भी Mr. Eknath Shinde के जीवन परिचय से जुड़ी संपूर्ण जानकारी प्राप्त करनी है, यदि हां तो आपके लिए हमारा आज का यह पोस्ट काफी महत्वपूर्ण साबित होने वाला है।

Eknath Shinde एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं। वह महाराष्ट्र सरकार में शहरी विकास और लोक निर्माण (सार्वजनिक उपक्रम) के कैबिनेट मंत्री थे। वह वर्तमान में ठाणे, महाराष्ट्र के कोपरी-पछपाखडी निर्वाचन क्षेत्र से विधान सभा के सदस्य हैं। वह 2004, 2009, 2014 और 2019 में महाराष्ट्र विधानसभा में लगातार 4 बार निर्वाचित हुए हैं।

आज के इस पोस्ट में हम आपको Mr. Eknath Shinde Biography in Hindi से जुड़ी संपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं। इसलिए जरूरी है आप हमारे आज के इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

Eknath Shinde Shiv Sainik cabinet minister biography in Hindi 2022

Eknath Shinde की शुरुआती जीवन –

आज के समय में महाराष्ट्र की राजनीति में जो अभी मोड़ आया है, उसमें Eknath Shinde के चर्चे काफी जोरो शोरो से चल रही है। ऐसे में अगर आप भी Eknath Shinde के जीवन के बारे में जानना चाहते है, तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पर आए है। यदि हम Eknath Shinde के बारे में सरल शब्दों में समझा जाए तो इनका जन्म भारत में साल 1964 में हुआ था।

एक रिसर्च के मुताबिक एकनाथ शिंदे का जन्म महाराष्ट्र राज्य की राजधानी दिल्ली में 9 फरवरी को हुआ था। एकनाथ शिंदे के पिता जी का नाम संभाजी नवलू शिंदे है और इनकी मां का नाम गंगुबाई शिंदे है। एकनाथ शिंदे की शादी एक बिजनेस वूमेन के साथ हुआ था, जिनका नाम लता शिंदे है। इन दोनो की शादी के बाद एक पुत्र प्राप्त किया जिनका नाम इन्होंने श्रीकांत शिंदे रखा था।

आज एकनाथ शिंदे 58 वर्ष की आयु में राजनीतिक कार्य में जुटे हुए है। इन्होंने बताया है कि इनके जन्म के समय इनकी परिवार की आर्थिक स्थिति कुछ ठीक नही थी। परिवार की आर्थिक स्थिति को ठीक करने के लिए एकनाथ शिंदे को 16 साल की आयु में ही ऑटो रिक्शा चलानी पड़ी। जी हां कहा जाता है कि एकनाथ शिंदे काफी लंबे समय तक ऑटो रिक्शा चलाकर अपने परिवार की आर्थिक सहायता करते रहें।

रिक्शा चलाने के साथ ही साथ जब पैसे की अधिक जरूरत पड़ी तो एकनाथ शिंदे ने एक शराब निर्माण करने वाली फैक्ट्री में भी कार्य किया करते थे जिससे वहां से भी उन्हें कुछ पैसे कमाने को मिल जाए। ऐसा माना जाता है की वर्ष 1980 के दौरान एकनाथ शिंदे ने बाल ठाकरे के भाषण से प्रभावित होकर राजनीतिक में अपना कदम रखने का विचार बनाया था।

Eknath Shinde Shiv Sainik cabinet minister biography in Hindi 2022 एकनाथ शिंदे

जी हां जानकारी के मुताबिक वो बाल ठाकरे का ही भाषण था जिसे सुनकर एकनाथ शिंदे को राजनीतिक के फिल्ड में उतरने का मन किया और उस दौरान ये शिवसेवा पार्टी में शामिल हो गए। यह वो वक्त था जब भारत में शिवसेना इकलौती ऐसी पार्टी थी जो कट्टर हिंदुत्व के मुद्दे के तौर पर जानी जाती है।

जानकारी के अनुसार, वर्ष 2004 में पहली बार विधायक बने का अवसर एकनाथ शिंदे को प्राप्त हुआ। फिर जब बाल ठाकरे की मृत्य हुई तब उसके बाद एकनाथ शिंदे का नाम महाराष्ट्र राज्य में उभरता हुआ नजर आया। वो बात अलग है की गुजरे दो तीन वर्षो में उद्धव ठाकरे और उनके पुत्र का पार्टी में एकनाथ शिंदे से भी ज्यादा नाम के चर्चे होते दिखे है।

यही कारण है कि एकनाथ शिंदे को ये चीज अच्छी नहीं लगी और वे पार्टी से ना खुश हो गए। सरल शब्दों में समझा जाए तो एकनाथ शिंदे पार्टी में सिर्फ एक नेता के तौर पर ही रह गए और इनको ज्यादा इंपॉर्टेंट नहीं मिला जिससे कारण यह पार्टी से खफा रहने लगा। तो चलिए अब हम एकनाथ शिंदे के एजुकेशन से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर लेते हैं।

एकनाथ शिंदे की शिक्षा से जुड़ी जानकारी –

यदि हम एकनाथ शिंदे की शिक्षा के बारे में बात करें, तो इनके माता पिता ने इनका एडमिशन हाई स्कूल में ठाणे शहर में करवाया था जहां से एकनाथ शिंदे ने थोड़ी बहुत पढ़ाई पूरी की। कहा जाता है की इन्होंने अपनी शुरुआत पढ़ाई पूरी नही की। और इसका सबसे बड़ा कारण यह था कि इनके परिवार की आर्थिक स्थिति सही नही थी और अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को ठीक करने के लिए इन्होंने अपनी शुरुआत पढ़ाई पूरी नही की।

या यह कहें कि इन्होंने 16 साल की आयु में पढ़ाई करने के स्थान पर ऑटो रिक्शा चलाने की नौबत आई। जी हां मैंने आपको पहले भी बताया है कि एकनाथ शिंदे ने अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को ठीक करने के लिए ऑटो रिक्शा चला कर और शराब की फैक्ट्री में काम करके अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को थोड़ा बहुत ठीक किया है।

Eknath Shinde का Career –

तो क्या आप भी Eknath Shinde के करियर के बारे में जानना चाहते हैं, यदि हां तो चलिए अब हम बगैर समय गवाएं जान लेते हैं कि एकनाथ शिंदे के करियर से जुड़ी जानकारी के बारे में। जो कि इस प्रकार है……..

  • एकनाथ शिंदे के करियर के बारे में यदि हम चर्चा करें, तो इन्हें वर्ष 1997 को पहली बार पार्षद बनने का अवसर प्राप्त हुआ।
  • जिसके पश्चात सदन के नेता के पोस्ट के लिए ठाणे नगर में एकनाथ शिंदे को साल 2001 में चयन किया गया था।
  • देखा जाए तो साल 2002 में एक बार वापस से एकनाथ शिंदे ने ठाणे नगर से जीत हासिल करी।
  • जिसके पश्चात साल 2004 में महाराष्ट्र विधानसभा के लिए एकनाथ शिंदे को चुना गया था।
  • ठाणे जिला प्रमुख के पोस्ट के लिए शिवसेना के माध्यम से एकनाथ शिंदे को चुना गया था।
  • देखा जाए तो एक बार वापस से साल 2009 में महाराष्ट्र विधानसभा के पोस्ट के लिए चुना गया था।
  • साल 2014 में एक बार वापस से महाराष्ट्र विधानसभा के लिए एकनाथ शिंदे को फिर से वापस चुना गया था।
  • वर्ष 2019 में एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र विधानसभा के लिए चौथी बार चयन किया गया था।
निष्कर्ष –

आशा करता हूं कि आपको हमारा Mr. Eknath Shinde Biography in Hindi का यह पोस्ट पसंद आया होगा। आज के इस लेख में मैंने आपको एकनाथ शिंदे के जीवन परिचय से संबंधित हर महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान कर दी है। यदि आपको हमारे आज के इस एकनाथ शिंदे के जीवन परिचय के इस पोस्ट को पढ़कर कोई भी सवाल पूछना हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

THANKS, AND REGARDS

STORY BEHIND SUCCESS

2 thoughts on “Eknath Shinde Shiv Sainik cabinet minister biography in hindi 2022”

Leave a Comment